Message From Chairman

“What sculpture is to a block of marble, education is to the human soul. The philosopher, the saint, the hero, the wise, and the good, or the great, very often lie hid and concealed in a plebeian, which a proper education might have disinterred and brought to light.” Addison. ....  Read More

Photo Gallery

Latest News

नई शिक्षा नीति लागू करने से प्रदेश के जी.इ.आर. में वृद्धि निश्चित है : उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव
भोपाल : मंगलवार, सितम्बर 7, 2021, 20:43 IST


उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि नई शिक्षा नीति के लागू होने से प्रदेश के सकल नामांकन अनुपात (GER) में वृद्धि निश्चित है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2019-20 में म.प्र. का सफल नामांकन अनुपात 24.2 प्रतिशत था जो राष्ट्रीय 27.1 प्रतिशत के आसपास है। डॉ. यादव मंगलवार को प्रदेश के 39 निजी विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय शिक्षा नीति के क्रियान्वयन को लेकर म.प्र. निजी विश्वविद्यालय विनियामक आयोग में कार्यशाला के समापन सत्र को संबोधित कर रहे थे।

मंत्री डॉ. यादव ने कहा कि प्रदेश में निजी विश्वविद्यालय की स्थापना के पीछे परिकल्पना है कि वे अपने संसाधनों की श्रेष्ठता सिद्ध करें अन्य संस्थान उनका अनुसरण करें। उन्होंने कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति नए भारत की नई उम्मीदों तथा नई आवश्यकताओं की पूर्ति का माध्यम है। उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए बड़े गर्व की बात रही है कि कोरोना काल में जहाँ विश्व में शैक्षणिक गतिविधियाँ भी रूक गई थी, वहीं मध्यप्रदेश द्वारा ऑनलाईन कक्षाओं का संचालन, ओपन बुक परीक्षा से समय पर परिणाम घोषित कर अनूठा कार्य किया गया है, जो देश में एक मॉडल रहा है, जिसकी अन्य प्रदेशों द्वारा प्रशंसा की गई। उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि नई शिक्षा नीति शासकीय विश्वविद्यालयों में क्रियान्वित हो गई है। इस नीति की सफलता में निजी विश्वविद्यालयों का सहयोग अत्यंत महत्वपूर्ण एवं आवश्यक है। उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव ने कहा कि इस तरह की कार्यशाला जिलों एवं संभाग स्तर पर भी आयोजित करें। राष्ट्रीय शिक्षा नीति का प्रचार अधिक से अधिक करें।

मध्यप्रदेश निजी विश्वविद्यालय विनियामक आयेाग के अध्यक्ष प्रो. भरत शरण सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति के महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर हमें ध्यान देना है। श्री सिंह ने नीति का क्रियान्वयन कैसे हो, कौन से क्षेत्र को ज्यादा केन्द्रित करना है, कैसे शिक्षा गुणवत्ता को बढ़ाना है, मास्टर ट्रेनर्स की ट्रेनिंग आदि को गति देने पर जोर देने की बात कही। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू करने और वर्ष 2030 तक शत-प्रतिशत सकल नामांकन अनुपात को हासिल करने के लिए हर स्तर पर अप्रोच करना होगा।

उल्लेखनीय है कि प्रदेश के 39 निजी विश्वविद्यालयों में राष्ट्रीय शिक्षा नीति के क्रियान्वयन को लेकर दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया था। इस अवसर पर डॉ. प्रदीप श्रीवास्तव सदस्य (अकादमिक) डॉ. विश्वास चौहान सदस्य (प्रशासकीय), म.प्र. निजी विश्वविद्यालय विनियामक आयेाग डॉ. ए.एस. यादव तथा विभिन्न निजी विश्वविद्यालयों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।




राष्ट्रीय शिक्षा नीति के क्रियान्वयन की सफलता इस बात पर निर्भर है कि हम इसे आगे कैसे ले जाते हैं - प्रमुख सचिव श्री राजन
भोपाल : सोमवार, सितम्बर 6, 2021, 17:03 IST

प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा श्री अनुपम राजन ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति के क्रियान्वयन की सफलता इस बात पर निर्भर है कि हम इसे आगे कैसे ले जाते हैं। सभी विश्वविद्यालयों के माध्यम से राष्ट्रीय शिक्षा नीति को धरातल पर उतारना चुनौतीपूर्ण रहेगा। श्री राजन सोमवार को म.प्र. निजी विश्वविद्यालय विनियामक आयोग में प्रदेश के 39 निजी विश्वविद्यालयों में राष्ट्रीय शिक्षा नीति के क्रियान्वयन को लेकर आयोजित कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे।

श्री अनुपम राजन ने कहा कि मध्यप्रदेश राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 को लागू करने वाला देश का अग्रणी राज्य है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में शिक्षा नीति को लागू करने के लिये उच्च शिक्षा मंत्री श्री मोहन यादव के नेतृत्व में टॉस्क फोर्स का गठन किया गया है। विषय-विशेषज्ञों और विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपतियों के साथ विचार-विमर्श उपरांत राष्ट्रीय शिक्षा नीति के संकल्पों को समग्रमा से लागू करने का प्रयास किया गया है। हर कॉलेज में नोडल अधिकारी बनाये गये हैं। श्री राजन ने कहा कि निजी विश्वविद्यालयों में भी राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू करने के लिये आयोजित इस कार्यशाला में नीति में च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम, अकादमिक संरचना, स्वरूप, क्रेडिट हस्तांतरण एवं प्रबंधन पर विशेष रूप से चर्चा होगी।

मध्यप्रदेश निजी विश्वविद्यालय के अध्यक्ष प्रो. भरत शरण सिंह, सचिव डॉ. के.पी. साहू, सदस्य (अकादमिक) डॉ. प्रदीप श्रीवास्तव, सदस्य (प्रशासनिक) डॉ. विश्वास चौहान तथा मुख्य कार्यपालन अधिकारी म.प्र. निजी विश्वविद्यालय विनियामक आयोग डॉ. ए.एस. यादव उपस्थित थे।

 

DESIGN CONTEST/CHALLENGE ON GRASS ROOT TECHNOLOGIES/LOCAL INNOVATION

 

मुख्यमंत्री श्री चौहान से मिले निजी विश्वविद्यालय विनियामक आयोग के अध्यक्ष

मध्यप्रदेश निजी विश्वविद्यालय विनियामक आयोग के अध्यक्ष प्रो. भरत शरण सिंह ने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से  मुख्यमंत्री निवास पर भेंट की। मुख्यमंत्री श्री चौहान को आयोग के अध्यक्ष ने आयोग की गतिविधियों से अवगत कराया।


Annual Conference of Regional Science Association of India

 

Annual Conference of Regional Science Association of India


सेवा परमो धर्म: के अंतर्गत "राष्ट्रीय शिक्षा नीति" पर डॉ भरत शरण सिंह के साथ चर्चा

 सेवा परमो धर्म: के अंतर्गत "राष्ट्रीय शिक्षा नीति" पर डॉ भरत शरण सिंह,अध्यक्ष मप्र निजि विश्वविद्यालय नियामक आयोग के साथ विशेष चर्चा

 


Recruitment of Full Time Secretary and Member (Academic)

Click here to download